Input your search keywords and press Enter.

राष्ट्रपति चुनाव के बाद अब नीतीश उपराष्ट्रपति चुनाव में भी महागठबंधन को क्या देंगे झटका?

nitish kumar
nitish kumar

फ़ाइल फोटो


बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को एनडीए ने राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया जिसके बाद सीएम नीतीश कुमार ने राज्यपाल को राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनाए जाने बधाई दी है. इसके अलावे राज्यपाल रामनाथ कोविंद से मिलने राजभवन पहुंचे. राज्यपाल से मिलने राजभवन पहुंचे सीएम नीतीश कुमार ने मीडिया से बातचीत में कहा कि हमारे राज्य के राज्यपाल राष्ट्रपति उम्मीदवार घोषित होना प्रसन्नता की बात है वो उम्मीदवार घोषित हुए हैं.

उन्होंने कहा था कि मै यहाँ के सीएम होने के नाते उनसे मिलने आया था. आदर्श रूप से राज्य सरकार से सम्बन्ध होना चाहिए वो उन्होंने निभाया है. उनके साथ कार्य करते हुए कभी भी कोई परेशानी नहीं हुई है उनका बेहतरीन कार्य रहा है. राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति उम्मीदवार के रूप में समर्थन के सवाल पर पहले तो सीएम नीतीश ने कहा कि अभी लालू और सोनिया जी से बात हुई है इसपर विचार करके बताऊंगा. राज्यपाल जी दिल्ली जा रहे हैं उनके सम्मान के लिए मिलने आया था. हालांकि बाद में विपक्ष के बैठक के पहले ही विधायकों के साथ बैठक कर नीतीश कुमार ने रामनाथ कोविंद को समर्थन देने का ऐलान कर दिया.

Loading...

अब चुनाव आयोग ने उपराष्ट्रपति चुनाव की तारीख की घोषणा कर दी है जिसके बाद बिहार के राजनीतिक गलियारों में एक बार फिर से चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है. कहीं जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सीएम नीतीश कुमार इस बार भी उपराष्ट्रपति चुनाव में रामनाथ कोविंद की तरह ही एनडीए उम्मीदवार को कहीं समर्थन न दे दें. महागठबंधन से अलग जाकर राष्ट्रपति चुनाव के बाद भी GSTके मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार के साथ खड़ी नजर आई. उपराष्ट्रपति चुनाव को लेकर एनडीए के तरफ से जिन नामों का चर्चा जोरों पर चल रहा है उसमे बिहार के दो बड़े नेता शामिल हैं.

पहला मधुबनी से बीजेपी के सांसद हुकुमदेव नारायण यादव का नाम सबसे आगे चल रहा है.

hukumdev narayan singh

file photo


इसके अलावे गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा जो बिहार की रहने वाली है. अगर ऐसे में किसी दोनों में से एक को उम्मीदवार बना दिया जाता है तो समर्थन कर सकते हैं.
Mridula Sinha

file photo


चुनाव पांच अगस्त को होना है कहीं बिहार के मुद्दे पर नीतीश फिर से NDA को समर्थन कर सकते हैं. इससे पहले भी नीतीश मोदी को सर्जिकल स्ट्राइक, नोटबंदी, राष्ट्रपति चुनाव और अब जीएसटी में भी मोदी सरकार को समर्थन दिया है. कयास लगाये जा रहे हैं कि नीतीश फिर से बिहारी के नाम पर कहीं केंद्र के साथ समर्थन में उतर जायें.

डेली बिहार न्यूज़ का ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें: DBN News APP


इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.