Input your search keywords and press Enter.

ITI के बिगड़ते हालात पर राज्य सरकार ने किया…..

हितेश कुमार : औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान यानी ITI के बिगड़ते हालात को राज्य सरकार ने गंभीरता से लिया है. बिगड़ते हालात पर राज्य के श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने चिंता जाहिर किया है. राज्य के तमाम आईटीआई प्राचार्य और निदेशकों के साथ बैठक चर्चा किया. चर्चा में उन्होंने साफ तौर पर कहा कि प्राइवेट आईटीआई कॉलेजों के सर्टिफिकेट वितरण प्रणाली पर रोक लगाने की पूरी कोशिश की जाएगी और विशेष राज्य सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी.

Loading...

ITI में प्रशिक्षण कर रहे छात्र शिक्षक और प्राचार्यों के समय से संस्था आने और जाने के लिए बायोमेट्रिक उपस्थिति तंत्र का प्रयोग आगामी 1 जनवरी से किया जाएगा. इसके बाद सभी आईटीआई संस्थानों को बायोमेट्रिक उपस्थिति को जिला कोषागार से लिंक कराने की बात हुई श्रम संसाधन मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने बताया है. साथ में उन्होंने यह भी कहा कि आईटीआई के जो ट्रेड आउटडेटेड हो चुके हैं उन्हें समाप्त कर नया ट्रेड को लागू करने पर विभाग विचार कर रहा है. मंत्री विजय कुमार सिन्हा के अनुसार राज्य भर में प्राचार्य और निर्देशक के समकक्ष पदों की संख्या कुल 133 बताया, परंतु अभी फिलहाल केवल 45 ही अपने पद पर कार्यरत हैं. शेष पानी को उन्होंने रिक्त बताया है. साथ ही यह भी कहा कि कुछ प्राचार्यों को दो संस्थान के कार्यभार सौंपा गया है.

यह भी पढ़ें:
सुशील मोदी ने अपनी बहु को लेकर कहा, लालू राज में कोलकाता गयी ‘यामिनी‘ नीतीश राज में लौटी

जीतन राम मांझी के पार्टी के प्रवक्ता ने गुजरात चुनाव को लेकर कही यह बात

कल नीतीश ने लालू पर लगाए थे आरोप आज लालू यादव ने चुन-चुन कर दिया जवाब, कहा बार-बार मेरे घर…

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.