Input your search keywords and press Enter.

डीआईजी विकास वैभव का कहर जारी, 8 को किया निलंबित, पुलिस वाले ऐसे कमा रहे थे रूपये

vikash vaibhav dig bhagalpur
vikash vaibhav dig bhagalpur

फ़ाइल फोटो


वैसे तो वसूली की घटनाएँ हर हाइवे पर चलती रहती है लेकिन अब भागलपुर में ये सब नहीं चलेगी. पटना के पूर्व एसएसपी और भागलपुर डीआईजी विकास वैभव ने ट्रक वालों से रूपये तसिलने वाले आठ पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है. हाईवे पर ट्रक ड्राइवरों से वसूली करते पकड़ गए फिर जिस लड़के के इसकी शिकायत की उसको धमकाया भी लेकिन युवक ने सभी का ऑडियो और विडियो बना कर एसएसपी और डीआईजी को भेज दिया इसके बाद आरोपी पुलिसकर्मियों को डीआइजी विकास वैभव ने निलंबित कर दिया है.

घटना भागलपुर के विक्रमशिला पुल की है जहाँ पर ट्रक ड्राइवरों से कुछ पुलिस वाले वसूली कर रहे थे. घटना का वीडियो बना एक युवक ने उसे डीआइजी और एसएसपी को भेज दिया. डीआइजी ने मामले की जांच के निर्देश दिए. इस बीच वसूली का वीडियो देने वाले युवक को डीआइजी ऑफिस में तैनात एक सिपाही रूपेश कुमार ने फोन कर धमकाया. युवक ने इसकी जानकारी भी बातचीत की रिकार्डिंग के साथ डीआइजी को दे दी.

Loading...

डीआइजी ने ऑफिस के सिपाही रूपेश कुमार सहित वसूली करने वाले सभी आठ पुलिसकर्मियों की पहचान करा उन्‍हें निलंबित कर दिया. डीआइजी ने बताया कि जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

डीएसपी की जांच में पीरपैंती थाने के दारोगा उस दौरान ड्यूटी पर रहे गजेंद्र सिंह की गतिविधि को संदिग्ध माना गया है. डीएसपी ने मामले की जांच कर एसएसपी को रिपोर्ट सौंप दी है.

ये हैं निलंबित पुलिसकर्मी: गजेंद्र सिंह (पीरपैती थाना), सुरेश प्रसाद रजक (मिर्जाचौकी बैरियर), पवन कुमार (मिर्जाचौकी बैरियर), राजाराम (टीओपी, विक्रमशिला पुल), कुन्दन कुमार (टीओपी, विक्रमशिला पुल), रंजीत कुमार (टीओपी, विक्रमशिला पुल), ओम प्रकाश साह (टीओपी, विक्रमशिला पुल)
और मो. रज्जाक (टीओपी, विक्रमशिला पुल).

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.