Input your search keywords and press Enter.

अपने ही दावों पर घिर गए नरेंद्र सिंह, पार्टी ने किया सनसनीखेज खुलासा….

narendra singh manjhi

narendra singh manjhi


न्यूज़ डेस्क: बिहार की राजनीति में पिछले कुछ दिनों से भूचाल आया हुआ है. सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा (हम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम अब राष्ट्रीय जनता दल के नेतृत्व वाली महागठबंधन में चले गए हैं. लेकिन जीतनराम मांझी को उनके ही फैसले पर अपनों ने घेर लिया है.

मांझी के इस फैसले पर उनकी पार्टी में दो फाड़ हो गया है. पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह ने एनडीए छोड़ महागठबंधन में मांझी के जाने के फैसले पर मोर्चा खोल दिया है. मांझी के फैसले से नाराज पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह ने कहा है कि मांझी का फैसला अलोकतांत्रिक है. मांझी जी ने अपने परिवार पुत्र के मोह में यह फैसला लिया है. नरेंद्र सिंह के इस बयान पर प्रदेश अध्यक्ष वृषण पटेल और प्रवक्ता दानिश रिजवान ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा है कि नरेंद्र सिंह पार्टी के सदस्य ही नहीं है ऐसे में उनसे पूछ कर महागठबंधन में जाने का सवाल ही नहीं उठता है.



नरेंद्र सिंह के प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद पूर्व सीएम मांझी के आवास पर आयोजित जवाबी प्रेस वार्त्ता में प्रवक्ता दानिश रिजवान ने पलटवार करते हुए कहा कि विधान परिषद् में नरेन्द्र सिंह ने खुद ही कहा था कि वह हम के नहीं जदयू के सदस्य हैं. हाईकोर्ट में भी शपथपत्र देकर भी यहीं बात कही है ऐसे में उनसे राय लेने का सवाल कहाँ है. रिजवान ने कहा कि यह फैसला सभी जिलाध्यक्षों और वरीय नेताओं के साथ बैठक कर लिया गया है. रिजवान ने खुलासा करते हुए कहा है कि इस फैसले से पहले सिंह ने फोन कर कहा था उन्हें राज्य सभा उम्मीदवार घोषित किया जाता है तो राजद के साथ जाने को तैयार हैं. लेकिन जीतनराम मांझी ने इस फैसले को मानने से इनकार कर दिया.

Loading...

गौरतलब है कि नरेन्द्र सिंह ने पूर्व सीएम पर आरोप लगाते हुए कहा था कि मैं मांझी के साथ बुरे दिन में भी रहा और उनको सीएम से हटाने का विरोध करता रहा. मांझी के इस फैसले पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि मांझी से मेरा कोई स्वार्थ नहीं रहा फिर भी मैं उनके साथ रहा. मुझे मांझी द्वारा पार्टी में इस तरह का फैसला लेने के कदम से अफसोस है. सीएम नीतीश कुमार से मेरे रिश्ते काफी अच्छे थे फिर भी मैं विरोध कर मांझी के साथ रहा लेकिन आज पुत्र मोह में यह सब कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि हमने लालू यादव के खिलाफ लड़ाई लड़ी है उनके साथ हम कैसे जा सकते हैं. उन्होंने कहा है कि जल्द ही हम नेताओं के साथ बैठक करेंगे. जब यह फैसला लिया गया उस समय सभी नेता होली नजदीक आने के कारण अपने-अपने इलाके में थे तब एक फोन पर बुलाकर अपने आवास पर मांझी जी ने यह फैसला ले लिया.

नरेंद्र सिंह का कहना है कि उनकी पार्टी हम एनडीए का हिस्सा है. नरेंद्र सिंह ने कहा कि बैठक बुलायेंगे साथ ही राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदेश अध्यक्ष का फिर से चयन किया जायेगा. जनता दल यूनाईटेड में जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हम हम पार्टी में हैं और एनडीए के हिस्सा भी हैं बैठक में हम निर्णय लेंगे हम कहीं नहीं जा रहे हैं. उन्होंने खुलासा करते हुए कहा कि महागठबंधन में जाने के फैसले से ज्यादातर नेता नाराज हैं. बकौल नरेंद्र सिंह महागठबंधन में जाने की घोषणा के वक्त प्रेस वार्त्ता के दौरान अधिकतर नेता अनमने ढंग से शामिल हुए थे जो इस फैसले से नाराज हैं. आने वाले समय में सब स्पष्ट हो जायेगा. उन्होंने घोषणा करते हुए कहा कि 8 अप्रैल को सम्मेलन में फैसला लिया जाएगा साथ ही राष्ट्रीय अध्यक्ष समेत सभी पदों पर निर्णय किया जायेगा.


यह भी पढ़ें:
महागठबंधन में जाते ही मांझी की पार्टी में हुआ टूट! मांझी के खिलाफ दिग्गज नेता ने पार्टी पर अपना ठोका अपना दावा…..

एसएससी परीक्षा घोटाला के खिलाफ छात्रों के समर्थन में उतरे पप्पू यादव ने किया बड़ा ऐलान, गृह मंत्री ने फोन पर….

मीसा भारती की बढ़ी मुश्किलें, कोर्ट ने कहा हर हाल में…

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.