Input your search keywords and press Enter.

पैसों की कमी और क़र्ज़ से हैं परेशान तो आज से ही अपना लें क़र्ज़ मुक्ति के ये अचूक उपाय

क़र्ज़ चाहे अच्छे काम के लिये लिया जाये या फिर किसी बुरे काम के लिये, कर्जा कभी भी आदमी को चैन से नहीं जीने देता है . और सबसे बड़ी बात कर्ज यानी उधार लिया पैसा अगर समय पर नहीं लौटाया जाए तो इसकी वजह से जीवन में परेशानियां बहुत ज्यादा बढ़ सकती हैं। कर्ज को दलदल माना जाता है। जो व्यक्ति इस दलदल में फंसता है, वह आसानी से बाहर नहीं आ पाता है. जिन लोगों की कुंडली में कर्ज से संबंधित दोष होते हैं, उन्हें उधार लिए गए धन की वजह से बुरे समय का सामना करना पड़ सकता है. यहां जानिए ज्योतिष के कुछ खास उपाय, जिनसे कुंडली के अशुभ योगों का असर कम किया जा सकता है. इन उपायों धन लाभ के अवसर बढ़ सकते हैं.

कुंडली और कर्ज से संबंधित योग

Loading...

ज्योतिष के मुताबिक कुंडली का षष्ठम, अष्टम और द्वादश भाव कर्ज से संबंधित होता है. साथ ही, मंगल ग्रह को कर्ज का कारक ग्रह माना जाता है.
मंगल के कमजोर होने पर या पापग्रह से संबंधित होने पर या अष्टम, द्वादश, षष्ठम भाव में अशुभ होने पर व्यक्ति ऋणी बना रहता है.

अगर इन भावों पर और मंगल पर शुभ ग्रहों की दृष्टि हो तो कर्ज तो होता है, लेकिन कर्ज उतर सकता है.

ध्यान रखें मंगलवार और बुधवार को धन के लेन-देन से संबंधित काम नहीं करना चाहिए.

कर्ज निवारण से मुक्ति के लिए उपाय

शनिवार को ऋणमुक्तेश्वर महादेव का पूजन करें.

मंगल की भातपूजा, दान, होम और जप करें.

मंगल एवं बुधवार को कर्ज का लेन-देन न करें.

लाल, सफेद वस्त्रों का अधिकतम प्रयोग करें.

श्रीगणेश को प्रतिदिन दूर्वा और मोदक का भोग लगाएं.

श्रीगणेश का अथर्वशीर्ष का पाठ प्रति बुधवार करें.

शिवलिंग पर रोज कच्चा दूध चढ़ाएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.