Breaking News
November 17, 2018 - सी एच फिल्म एंड म्यूजिक प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा आयोजित कार्यक्रम में महुआ चैनल कलर्स राइजिंग स्टार इशरत जहां के गीतों पर पूरी रात श्रद्धालु झूमते और नाचते रहे।
November 17, 2018 - अरवल : शहर तेलपा में संस्कृति कार्यक्रम आयोजित। इस मौके पर एसडीएम ने कहा सांस्कृतिक कार्यक्रमों से मिलता है प्रेम भाईचारा को सम्बल
November 17, 2018 - लालू यादव की सेहत हुई खराब, राजद ने PM मोदी और नीतीश को बताया जिम्मेदार
November 17, 2018 - RLSP पर इस विधायक ने ठोका दावा
November 17, 2018 - 42वें चीफ जस्टिस बने एपी शाही, राज्यपाल ने दिलाया शपथ
November 17, 2018 - महज कुछ घंटों में कुशवाहा करेंगे बड़ा ऐलान
November 17, 2018 - नीतीश कैबिनेट की बैठक में दो बड़े ऐलान
November 17, 2018 - आज उपेंद्र कुशवाहा जायेंगे महागठबंधन में?
November 16, 2018 - तेजस्वी यादव ने सीबीआई और सुशील मोदी के बीच सांठगांठ की खोली पोल
November 16, 2018 - तेज प्रताप को बुलाने के लिए माँ ने की अपील

अनोखी प्रेम कहानी: पति ने बनवाया पत्नी का मंदिर, रोज करता है पूजा

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

लाइफस्टाइल डेस्क: अपने बहुत साडी प्रेम कहानी सुनी होगी और जानते भी होगी. हर इंसान अपने प्यार को अमर करना चाहता है. आज हम आपको एक ऐसी ही कहानी सुनाने वाले है. एक किसान के बारे में जिसने ‘प्यार का मंदिर’ बनवाया है और उस मंदिर में अपनी पत्नी की मूर्ति स्थापित की है. इतना ही नहीं, 12 साल से वह किसान पूरी आस्था और श्रद्धा के साथ उस मंदिर में पूजा भी करता है.

mandir2

कहानी कर्नाटका की है, कर्नाटक के चामाराजानगर जिले के कृष्णपुरा गांव में राजू उर्फ राजूस्वामी नामक किसान ने अपनी पत्नी राजम्मा के नाम पर 2006 में ‘राजम्मा मंदिर’ बनवाया था. इस मंदिर में स्थापित राजम्मा की मूर्ति को खुद बनाया है. इस मंदिर में राजम्मा के साथ-साथ निश्वरा, सिड्डप्पाजी, नवग्रह और भगवान शिव की भी मूर्तियां हैं.

राजू ने अपनी बहन की बेटी से शादी की थी. राजू ने कहा, ‘मेरे माता-पिता हमारी शादी के खिलाफ थे. लेकिन हमने शादी कर ली क्योंकि मेरी बहन और बहनोई ने कोई विरोध नहीं किया. शादी के कुछ दिनों बाद मेरी पत्नी ने गांव में मंदिर बनाने की इच्छा जाहिर की लेकिन पूरा मंदिर बनने से पहले ही उसका निधन हो गया.’

राजू कहते हैं, ‘उसे पहले ही अपनी मौत का आभास हो गया था. उसके पास स्पेशल पावर थी. वह हमेशा एक मंदिर का सपना देखती थी. वह एक आध्यात्मिक किस्म की महिला थी. इन बातों ने मुझे यकीन दिला दिया कि मुझे मंदिर बनाकर उसकी देवी के रूप में पूजा करनी चाहिए.’


इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”24259316″]

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए
Tagged with:

About author

Related Articles

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *