Input your search keywords and press Enter.

नीतीश के खिलाफ याचिका पर सुनवाई को लेकर सुप्रीमकोर्ट की सहमती के बाद तेजस्वी ने सृजन घोटाले पर…..

tejaswi yadav nitish
tejaswi yadav nitish

file photo

न्यूज़ डेस्क: नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भागलपुर पहुंचे से पहले उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर लम्बा चौड़ा पोस्ट नीतीश सरकार के खिलाफ में लिखा है. उन्होंने लिखा कि हम राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री लालू प्रसाद जी के साथ सृजन घोटाले के गढ़ भागलपुर को प्रस्थान कर चुके हैं. सृजन के गढ़ से ही हम सृजन घोटाले के सृजनकर्ताओं या यूँ कहिए सृजन के दुर्जनों का पर्दाफाश करेंगे.

उन्हें उनके ही बिल से बाहर आने को ललकारेंगे. स्टेनो, टेलीफोन और कंप्यूटर ऑपरेटर जैसे छोटे छोटे कर्मीयों की गिरफ्तारी दिखाकर जानबूझकर बड़ी मछलियों को बचाया जा रहा है. सबूत मिटाए जा रहे हैं. हार्ड डिस्क, कंप्यूटर, लैपटॉप गायब अथवा नष्ट किए जा रहे हैं. गवाहों को मारा जा रहा है. मुख्य सरगनाओं को सरकारी संरक्षण प्राप्त है. जदयू और भाजपा के बड़े नेताओं की संलिप्तता के बावजूद उनपर अब तक FIR तक दर्ज़ नहीं की गई है. राजकीय कोष के धन को गैरकानूनी तरीके से इधर उधर कर जहाँ तहाँ निवेश कर दिया गया, बन्दरबाँट मचाई गई और निजी हित के लिए दुरुपयोग किया गया. यह सब इस समय वित्त मंत्री रहे सुशील मोदी के रहते हुआ. इतनी बड़ी राशि उनके नाक के नीचे से उनकी जानकारी के बिना गायब हो जाना असम्भव है. उन्हीं के पार्टीगण और परिजनों के नाम भी बार बार आ रहे हैं.

Loading...

चार बार नीतीश कुमार जी ने इस घोटाले पर जाँच होने से रोक दिया, वरना इसका पर्दाफ़ाश 10 साल पहले ही हो गया होता. सृजन में अपनी नाक बचाने के लिए ही मुख्य संरक्षक नीतीश कुमार और सुशील मोदी एक हुए हैं ताकि मिल बाँट इसकी लीपापोती कर जनता को मूर्ख बनाया जा सके. एक तरफ CBI कल्पना शक्ति और अज्ञात सूचना को आधार बनाकर अपने मनगढंत आरोपों में मुझ पर FIR दर्ज करती है जब मैं मात्र 14 वर्ष का था, दूसरी ओर साफ-साफ सृजन घोटाले के मुख्य संरक्षकों नीतीश कुमार और सुशील मोदी के विरुद्ध FIR दर्ज करने के बजाय उन्हें ही संरक्षण प्रदान करने में जुटी है. इन दोनों पर तुरंत दफा 120B और 420 का मुकदमा दर्ज कर CBI अपनी विश्वसनीयता प्रमाणित करे.

सृजन घोटाला सीधे तौर पर इन्हीं के संरक्षण में हुआ है तो इन पर अबतक FIR क्यों नहीं हुई है? सुशील मोदी की बहन इसमें आरोपित है, सृजन घोटाले के काले धन से मोदी परिवार कहाँ से कहाँ पहुँच गया. जबतक नीतीश जी और सुशील मोदी पर FIR नहीं होती, हम चैन से बैठने वाले नहीं है. सृजन घोटाले का ही कमाल है जो आज नीतीश जी दुबारा भाजपा संग बैठे है. अपने काले पाप छुपाने के लिए ये लोग एक हुए है.

तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश पर तंज कसना सुप्रीमकोर्ट में दायर याचिका पर सुनवाई को लेकर सहमती प्रदान को लेकर माना जा सकता है. गौरतलब है कि सीएम नीतीश द्वारा शपथपत्र में हत्या का मुकदमा के बारे में जानकारी छुपाने को लेकर याचिका दायर किया गया था तथा उन्हें सीएम पद से हटाने की मांग की गई थी. इस मामले में सुप्रीमकोर्ट सोमवार को सुनवाई करेगी.

यह भी पढ़ें:
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का धैर्य टूटते ही छलक पड़ा दर्द, कहा नीतीश सरकार के….

जब आधी रात सारा बिहार सो रहा था उस समय तेजस्वी कर रहे थे यह काम, सीएम नीतीश को….

गुजरात से जिस चेक को नीतीश ने लौटाया अब फिर उसी को लेंगे! तेजस्वी ने कहा फिर पलटी…

इस न्यूज़ को शेयर करे तथा कमेंट कर अपनी राय दे.
[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.