रणजी ट्रॉफी के पहले ही मैच में बुरी तरह फेल हुई बिहार की बैटिंग

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

17 साल बाद रणजी ट्रॉफी मैच खेल रही बिहार क्रिकेट टीम 60 रनों पर ही ढेर हो गयी. उत्तराखंड ने टॉस जीतने के बाद पहले फिल्डिंग का फैसला किया. बिहार की टीम लंच के पहले ही मात्र 60 रन बनाकर पैवेलियन लौट गयी. बिहार की टीम शुरुआती झटकों से ही उबर नहीं सकी और होम ग्राउंड पर खेल रहे उत्तराखंड के खिलाड़ियों की स्विंग के आगे ढेर हो गयी. उत्तराखंड के गेंदबाज दीपक धपोला ने घातक गेंदबाजी की. उन्होंने छह विकेट चटकाये. बिहार के कई खिलाड़ी दहाई अंक के आंकड़े को भी नहीं छू सके.

बिहार के पहले दो विकेट शून्य के स्कोर पर ही गिर गये. उसके बाद बिहार की टीम उबर नहीं सकी और तीसरा विकेट 13, चौथा विकेट 24, पांचवा विकेट 28, छठा विकेट 36, सातवां विकेट 39, आठवां विकेट 47, नौवां विकेट 52 गिरा. इसके बाद पूरी टीम 60 रनों पर ढेर हो गयी.

बिहार की ओर से विवेक मोहन ने सर्वाधिक 13 रन बनाये. वहीं, केशव कुमार ने 11 और आशुतोष अमन ने 10 रनों का योगदान किया. इनके अलावा कोई भी खिलाड़ी दहाई के अंक को नहीं छू सके.

बाद में बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट खोकर 201 रन बना लिए. उत्तराखंड को पहली पहले दिन पहली पारी के आधार पर 141 रनों की बढ़त मिल गई है. कप्तान रजत भाटिया 14 और दीपक धपोला दो रन बनाकर नाबाद लौटे.

रायपुर स्थित राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में बृहस्पतिवार को उत्तराखंड के कप्तान रजत भाटिया ने टॉस जीतकर बिहार को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया. दीपक धपोला ने कप्तान के इस फैसले को सही साबित किया और पहले ही ओवर में बिहार की टीम को दोहरा झटका दिया. उत्तराखंड के तेज गेंदबाजों ने हरी पिच और सुबह की नमी का फायदा उठाते शानदार गेंदबाजी की.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *