Breaking News
August 26, 2019 - पी.चिदंबरम को मिल झटका, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया अंतरिम जमानत याचिका
August 26, 2019 - तेजस्वी यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने को लेकर राजद में विवाद
August 25, 2019 - प्रियंका गांधी ने कश्मीर को लेकर केन्द्र पर बोला हमला, कहा ‘लोगों को चुप कराना राष्ट्रविरोधी’
August 25, 2019 - तेजस्वी यादव बोले सिर्फ लालू परिवार ही भ्रष्टाचारी नहीं, आरसीपी सिंह पर जांच की रखी मांग
August 25, 2019 - BPSSC में 2446 पदों के लिये एजुकेशन क्वालीफिकेशन में बदलाव
August 25, 2019 - BPSSC में 2446 पदों के लिये एजुकेशन क्वालीफिकेशन में बदलाव
August 25, 2019 - अनंत सिंह ने जेल का खाना खाने से किया इंकार, मांगी विशेष सुविधा
August 25, 2019 - कोर्ट में पेशी के बाद पटना के बेऊर जेल भेजे गए अनंत सिंह
August 25, 2019 - तेजस्वी के कमबैक को झटका, शिवानंद तिवारी-भाई वीरेंद्र ने बनाई दूरी
August 25, 2019 - अरुण जेटली को लेकर लालू यादव ने बताई दिल की बात

अफ़ग़ानिस्तान पर हुए जीत के बाद, सचिन तेन्दुल्कर धोनी से नाखुश

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

टीम इंडिया ने शनिवार को वर्ल्ड कप मुकाबले में अफगानिस्तान पर 11 रनों की रोमांचक जीत हासिल की है, लेकिन भारत के बल्लेबाजों के प्रदर्शन से मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर नाखुश दिखे. पहले बल्लेबाजी के लिए उतरी टीम इंडिया को अफगानिस्तान ने 224/8 रनों पर रोक दिया था. हालांकि अफगान टीम लक्ष्य से दूर रह गई और 49.5 ओवरों में 213 रनों पर ही सिमटकर रह गई.

साउथेम्प्टन के स्टेडियम में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. कप्तान को छोड़कर, कोई भी भारतीय बल्लेबाज पिच पर अफगान स्पिनरों के आगे सहज नहीं दिखा. महेंद्र सिंह धोनी और केदार जाधव ने पारी के बीच के ओवरों में धीमी साझेदारी की, जिससे टीम इंडिया कोई फायदा नहीं मिला पाया. उल्टे अफगानिस्ताम ने गेंदबाजों ने अपना शिकंजा कस लिया. यहां तक कि आखिरी 10 ओवरों में भी भारतीय बल्लेबाज कोई आजादी नहीं ले पाए.

पूर्व भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कहा कि धोनी और जाधव बीच के ओवरों में जिस तरह से खेल रहे थे, उन्हे उस बात से निराशा हुई. सचिन ने कहा कि धोनी और जाधव ने कभी भी स्पिनरों पर आक्रमण का इरादा नहीं दिखाया.सचिन ने कहा कि, ‘मैं केदार और धोनी की साझेदारी से खुश नहीं था. दोनों बहुत धीमे थे. हमने 34 ओवरों की स्पिन गेंदबाजी खेली और 119 रन ही बनाए. यह एक ऐसा क्षेत्र था जहां भारतीय खिलाड़ी बिल्कुल भी सहज नहीं दिखे. कोई सकारात्मक इरादा नहीं था.’

सचिन ने कहा कि ओवरों में 2-3 से अधिक डॉट बॉल थे. 31वें ओवर में विराट के आउट होने के बाद और 45वें ओवर तक हम ज्यादा रन नहीं बटोर पाए. मध्यक्रम के बल्लेबाजों के लिए अब तक यह टूर्नामेंट अच्छा नहीं रहा है, जिससे उन्होंने खुद पर दबाव बना लिया है.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *