Input your search keywords and press Enter.

कम होने का नाम नहीं ले रही है योगी सरकार की मुश्किलें, उनके ही मंत्री ने लगाया गंभीर आरोप

न्यूज़ डेस्क : प्रदेश की योगी सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है. उनके ही कैबिनेट मंत्री और नेताओं ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. प्रदेश के कबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं के साथ अन्याय करने का आरोप लगाया है.

ओमप्रकाश राजभर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष हैं और यह पार्टी अभी उत्तर प्रदेश सरकार में भाजपा की सहयोगी पार्टी है, इसके अध्यक्ष राजभर योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं. राजभर कुछ समय पहले से सीएम योगी से नाराज चल रहे हैं. वह लगातार सरकार पर हमला बोल रहे हैं. सरकार से नाराजगी के कारण बीजेपी के राष्ट्रिय अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली में इन से मुलाकात की थी और उसके बाद इन्होने कहा की अब मुझे सरकार से किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं है पर समय-समय इनकी नाराजगी अभी भी बाहर आते रहती है.

Loading...

राजभर ने कल गुरुवार को बयान जारी करते हुए कहा कि उनके अलावा प्रदेश में पिछड़ी जाति के किसी भी विधायक या मंत्री की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने जबान खोलने की हिम्मत नहीं है. अगर भाजपा उनसे सरकार से अलग होने को कहेगी तो वह तुरंत मंत्री पद छोड़ देंगे. उन्होंने कहा कि प्रदेश में अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक और सामान्य वर्ग के 24 लाख छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति के लिए तीन हजार करोड़ रुपए का बजट आबंटित हुआ है. वहीं, पिछड़ी जाति के 26 लाख छात्र-छात्राओं के लिए मात्र एक हजार 85 करोड़ रुपए ही आबंटित किए गए हैं, यह अन्याय है. 16 अप्रैल को सरकार ने एक शासनादेश जारी किया है, उसमें 16 अप्रैल से 15 मई तक अनुसूचित जाति, अल्पसंख्यक और सामान्य वर्ग के ऐसे विद्यार्थियों को फिर से आवेदन करने को कहा गया है, जो आवेदन नहीं कर पाए हैं, या आवेदन में गड़बड़ी हुई है. मगर पिछड़ी जाति के लिए ऐसा कुछ नहीं किया गया है. पूरे प्रदेश में छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति को लेकर हाहाकार मचा हुआ है. यह पिछड़ों के साथ अन्याय है. लगभग 11 लाख बच्चे छात्रवृत्ति और शुल्क प्रतिपूर्ति से वंचित हैं.

भाजपा के साथ रहने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमने 2024 तक के लिए गठबंधन किया है. पर अगर भाजपा आज कह दे कि हमें सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी की जरुरत नहीं है तो हम एस्ले लिए तैयार हैं और तुरंत सरकार से अलग हो जाएंगे. यदि पिछड़ों के हक़ की बात उठाना गलत है तो भाजपा हमें निकल दे, हम उसके निर्णय का स्वागत करेंगे और अपना मंत्री पड़ भी तुरंत छोड़ देंगे. योगी सरकार पिछड़ा वर्ग के साथ सौतेलापन दिखा रही है और हम इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.