Input your search keywords and press Enter.

बड़ा फैसला : सीएम योगी ने कहा‌ कोरोना‌ के कम लक्षण वाले व्यक्ति होम आइसोलेशन द्वारा इलाज करेंगे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लिया बड़ा फैसला और कहा कि जिन मरीजों में कोरोना‌ के हल्के लक्षण है वह अपना इलाज घर पर ही करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार शर्तों के साथ होम आइसोलेशन की अनुमति देगी  तथा रोगी और उसके परिवार को होम आइसोलेशन के प्रोटोकाॅल का पालन करना अनिवार्य होगा। बता दें कि कोरोना के मामले दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं और बेड की कमी के कारण यह फैसला लेना पड़ा। सीएम योगी ने यह भी कहा कि कई लोग कोविड-19 से संक्रमित है और इस बात को छुपा रहे हैं, जिससे यह संक्रमण और बढ़ता जा रहा है।

मुख्यमंत्री सरकारी आवास पर बैठक में अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘होम आइसोलेशन की व्यवस्था को लागू करने के साथ-साथ लोगों को कोविड-19 से बचाव के बारे में सतत जागरूक किया जाए। जागरूकता अभियान में प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया सहित बैनर, होर्डिंग, पोस्टर तथा पब्लिक एड्रेस सिस्टम का उपयोग किया जाए।’ 

मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश जारी किया कि मास्क पहनना अनिवार्य है और सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन किया जाए। सीएम योगी ने कहा,‌ ‘‌बेहतर इम्युनिटी कोविड-19 से बचाव के लिए जरूरी है। लोगों को ‘आरोग्य सेतु’ एप तथा ‘आयुष कवच-कोविड’ एप को डाउनलोड करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। जनता को यह भी बताया जाए कि ‘आयुष कवच-कोविड’एप में प्रदान की गई जानकारी को

मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश जारी किए हैं कि कोविड-19 से होने वाली मृत्यु की दर को न्यूनतम स्तर पर लाने के लिए स्वास्थ्य विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग प्रभावी कार्यवाही करें। उन्होंने जनपद लखनऊ, कानपुर नगर, बस्ती, प्रयागराज, बरेली, गोरखपुर, बलिया, झांसी, मुरादाबाद एवं वाराणसी में चिकित्सकों की विशेष टीम भेजने के लिए स्वास्थ्य विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग को निर्देशित कर दिया है । उन्होंने यह भी कहा कि इन जनपदों के नोडल अधिकारी भी टीम के साथ रहेंगे।