Input your search keywords and press Enter.

“उत्तर प्रदेश में विकास की अनंत संभावनाएं हैं” – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विकास की अनंत संभावनाएं हैं। इसे साकार प्रवासी भारतीयों की विशेषज्ञता एवं अनुभव के माध्यम से किया जा सकता है। उन्होंने प्रवासी भारतीय से प्रदेश के विकास में रचनात्मक योगदान को करने को कहा। सीएम योगी ने कहा कि अपनी प्रतिभा, परिश्रम व उद्यमिता से प्रवासी भारतीयों ने उनके निवास के देशों की अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ बनाया है।

मुख्यमंत्री डिजिटल संवाद ‘इंडिया ग्लोबल वीक-2020’ में अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने बताया कि इस अभूतपूर्व समय में डिजिटल संवाद का आयोजन काफी सराहनीय पहल है। उन्होंने जनता को यह भरोसा दिलाया कि यह संवाद विभिन्न देशों से आर्थिक संबंध मजबूत करने में उपयोगी साबित होगा।

इसके बाद योगी जी ने कहा कि राज्य सरकार कोविड-19 से प्रभावित हुई‌ आर्थिक गतिविधियों की तेजी से बाहर करने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रदेश में उद्यमिता के लिए सक्षम और अनुकूल वातावरण सृजित करना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश भारत की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला राज्य है। जिसमें से राष्ट्रीय सकल घरेलू उत्पाद में उत्तर प्रदेश का योगदान लगभग 8% है।पूरे देश की लगभग 17% जनसंख्या यहां निवास करती है।

23 करोड से अधिक जनसंख्या वाला प्रदेश,‌ भारत का सबसे बड़ा बाजार माना जाता है

उन्होंने बताया कि राज्य की 56 प्रतिशत जनसंख्या कामकाजी आयुर्वग वालों की है। प्रदेश सरकार इस विशाल ‘डेमोग्राफिक डिविडेन्ड’‌ का कौशल विकास करते हुए, इसका उपयोग प्रदेश के औद्योगिक विकास में करने के लिए कदम उठा रही है। योगी जी ने बताया कि लॉकडाउन की शुरुआत में उत्तर प्रदेश में पीपीई‌ किट‌ और मास्क निर्माण की कोई भी इकाई नहीं थी।आज उत्तर प्रदेश में 43 से अधिक इकाई पीपीई किट निर्माण एवं निर्यात कर रही है।